25 जून 2024

क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने रिकॉर्ड खोया! गोल स्कोरिंग इतिहास उनसे छीन लिया गया

1 min read

2017 में, पांच बार के बैलन डी’ओर विजेता क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने ब्लैंकोस को चैंपियंस लीग की महिमा दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यूरोपीय प्रतियोगिता के नॉकआउट चरणों में 11 गोल के साथ उन्होंने लीगा दिग्गजों के लिए एक प्रेरणादायक उपस्थिति दी थी। यह सफलता रोनाल्डो की अद्वितीय प्रतिभा और दृढ़ संकल्प का प्रमाण थी, जिसने उन्हें फुटबॉल की दुनिया में एक महान खिलाड़ी के रूप में स्थापित किया।

बड़ा परिप्रेक्ष्य

रोनाल्डो के इस शानदार प्रदर्शन ने उन्हें 2011 में पूर्व-पोर्टो फ्रंटमैन राडामेल फाल्काओ के प्रयासों के बराबर ला खड़ा किया। फाल्काओ ने भी उस समय अपने प्रदर्शन से सभी को चौंका दिया था। इस उपलब्धि को फिर से करिम बेंजेमा ने 2022 में दोहराया, जब उन्होंने रियल मैड्रिड को एक और चैंपियंस लीग का ताज दिलाया। बेंजेमा के इन गोलों ने न केवल रियल को जीत दिलाई बल्कि उन्हें खुद भी प्रतिष्ठित बैलन डी’ओर तक पहुँचाया।

बेंजेमा की इस उपलब्धि ने यह साबित किया कि रियल मैड्रिड के पास लगातार महान खिलाड़ी रहे हैं, जो क्लब की सफलता में महत्वपूर्ण योगदान देते रहे हैं। यह रिकॉर्ड रोनाल्डो और बेंजेमा के अद्वितीय कौशल और मेहनत का प्रमाण है।

क्या आप जानते हैं?

रोनाल्डो और उनके साथियों के पास अब यूईएफए प्रतियोगिता के अंत में प्रभावी कारनामों का साझा रिकॉर्ड नहीं है। अयौब एल काबी ने व्यक्तिगत उत्कृष्टता की उस सीमा को बढ़ा दिया है, क्योंकि मोरक्को के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी ने 2024 में ओलंपियाकोस को यूरोपा कॉन्फ्रेंस लीग की महिमा दिलाते हुए 12 नॉकआउट गोल किए। यह उपलब्धि न केवल एल काबी की उत्कृष्टता का प्रमाण है बल्कि यह भी दर्शाती है कि फुटबॉल की दुनिया में नए सितारे उभर रहे हैं, जो पुराने रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं और नए मानदंड स्थापित कर रहे हैं।

एल काबी की इस सफलता ने फुटबॉल प्रेमियों को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि भविष्य में और कौन से खिलाड़ी ऐसे अद्वितीय कारनामे करेंगे। यह भी साबित करता है कि यूरोपीय फुटबॉल प्रतियोगिताओं में हमेशा नए और अप्रत्याशित नायक उभर सकते हैं।

आगे क्या?

यह एक ऐसा रिकॉर्ड है जिसे रोनाल्डो अब पुनः प्राप्त करने का अवसर नहीं पाएंगे, क्योंकि वे अब यूरोप में अपने क्लब के लिए नहीं खेलते। हालाँकि, 39 वर्षीय अनुभवी खिलाड़ी अब भी इतिहास रच रहे हैं। इस सीजन में अल-नासर के लिए 50 गोल कर उन्होंने सऊदी प्रो लीग में एक नया एकल-सीजन सर्वश्रेष्ठ सेट किया है। इसके साथ ही, वे चार अलग-अलग देशों में गोल्डन बूट जीतने वाले पहले व्यक्ति बन गए हैं।

रोनाल्डो की यह उपलब्धि उनके निरंतर समर्पण और उत्कृष्टता का प्रमाण है। उन्होंने अपने करियर में कई बाधाओं को पार किया है और विभिन्न लीगों में अपनी जगह बनाई है। उनकी यह यात्रा नए और पुराने फुटबॉल खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा का स्रोत बनी हुई है। रोनाल्डो के प्रशंसकों को उम्मीद है कि वे अपने अद्वितीय कौशल और अनुभव से फुटबॉल की दुनिया में और भी कई महान कारनामे करेंगे।

रोनाल्डो की इस निरंतरता ने साबित कर दिया है कि उम्र केवल एक संख्या है और यदि आपके पास जुनून और समर्पण है, तो आप किसी भी उम्र में महानता प्राप्त कर सकते हैं। उनके इस सफर ने यह भी दिखाया है कि सफलता का कोई एकमात्र मार्ग नहीं होता, बल्कि यह कई छोटे-छोटे प्रयासों और धैर्य का परिणाम होता है।